Magazine

English Hindi

Index

Polity

Governance & Social Justice

International Relations

Economy

Economy

जीडीपी के एक हिस्से के रूप में रक्षा व्यय, पूंजीगत व्यय और पूंजीगत बजट में अंतर

Defence Expenditure as a part of GDP, Difference in capital expenditure and capital budgeting

प्रासंगिकता:

  • जीएस 3 || अर्थव्यवस्था || सार्वजनिक वित्त || बजट

चर्चा में क्यों?

  • रक्षा राज्य मंत्री ने राज्यसभा में जीडीपी के एक हिस्से के रूप में रक्षा व्यय के बारे में जानकारी दी।
  • रक्षा व्यय हर साल निरपेक्ष रूप से बढ़ रहा है।
  • हालांकि, जीडीपी के बढ़ते ट्रेंड की वजह से जीडीपी के प्रतिशत के रूप में रक्षा बजट घटता हुआ दिखाई दे सकता है।
  • 2019-20 बजट व्यय (BE) में कुल रक्षा बजट (विविध और पेंशन सहित) कुल केंद्र सरकार के व्यय का 15.47 फीसदी है।
  • 2019-20 में रक्षा मंत्रालय का पूंजीगत बजट केंद्र सरकार के कुल पूंजीगत व्यय का लगभग 31.97% है।

सकल घरेलू उत्पाद

  • एक अवधि के दौरान देश के भीतर उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं के कुल मौद्रिक मूल्य को सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) कहा जाता है।

पूंजीगत व्यय

  • पूंजीगत व्यय भूमि, भवन, मशीनरी, उपकरण, साथ ही शेयरों में निवेश जैसी परिसंपत्तियों के अधिग्रहण पर खर्च किया गया धन है।

पूंजीगत प्राप्तियां

  • पूंजीगत प्राप्तियों में सरकार द्वारा बाजार से लिए गए ऋण, भारतीय रिजर्व बैंक से ली गई उधारी और विनिवेश के जरिए प्राप्त आमदनी को शामिल किया जाता है।

पूंजी भुगतान

  • पूंजीगत भुगतान में भूमि, भवन, मशीनरी और उपकरण जैसे संपत्ति के अधिग्रहण पर पूंजीगत व्यय शामिल होता है, साथ ही केंद्र सरकार द्वारा राज्य और संघ शासित सरकारों, सरकारी कंपनियों, निगमों और अन्य दलों को दिए गए शेयरों, ऋणों और अग्रिमों में निवेश भी होता है।

संदर्भ: