Magazine

English Hindi

Index

Polity

Governance & Social Justice

International Relations

Economy

Science & Technology

कॉर्ड ब्लड बैंकिंग कॉर्ड, ब्लड बैंकिंग के बढ़ते व्यावसायीकरण में कॉर्ड ब्लड बैंकिग कैसे काम करता है।

Cord Blood Banking how it works Issue of the growing commercialization of cord blood banking

प्रासंगिकता

  • जीएस 3 || विज्ञान और प्रौद्योगिकी || स्वास्थ्य और चिकित्सा

चर्चा में क्यों?

  • कॉर्ड ब्लड बैंकिंग जिस तरह से तेजी के साथ बढ़ रहा है, उससे सभी को हैरानी में डाल दिया है

विवरण

  • स्टेम कोशिका के शोध पर पिछले कुछ दशकों में बहुत तेजी से विकास हुआ है, जबकि फिलहाल यह अपने प्रायोगिक चरणों से गुजर रहा है।
  • स्टेम सेल बैंकिंग कंपनियों को माता-पिता के डेटा तक पहुंच प्राप्त होती है और डिलीवरी से पहले अपने संभावित ग्राहकों से संपर्क करना शुरू करते हैं, जिसके बाद वे प्रतिस्पर्धी पैकेजों की पेशकश करते हैं।
  • कंपनियां भविष्य के चिकित्सीय उपयोग का वादा करते हुए कई वर्षों तक माता-पिता को कोशिकाओं को बैंक करने के लिए मनाती हैं।
  • इमोशनल मार्केटिंग कर कोशिकाओं को संरक्षित करने के नाम पर कंपनियां पेरेंट्स से अत्यधिक शुल्क वसुलती हैं।
  • निजी कंपनियां जिन्होंने इस क्षेत्र में कदम रखा है, वे कोशिकाओं को स्टोर करने के लिए 50,000 रूपये और 1 लाख रुपये के बीच पैकेज की पेशकश करते हैं और कोशिकाओं को सही परिस्थितियों में संरक्षित करते हैं।
  • कॉर्ड ब्लड का भविष्य में इस्तेमाल का कोई भी वैज्ञानिक आधार नहीं है, इसलिए यह तरीका नैतिक और सामाजिक रूप से दोनों से ही चिंता का विषय है।

भारत में विनियमन

  • इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) कमर्शियल स्टेम सेल बैंकिंग की सिफारिश नहीं करता है।

कॉर्ड ब्लड बैंकिंग

  • जन्म के बाद शिशु की गर्भनाल और अपरा (प्लेसेंटा) में बचे खून को भविष्य में चिकित्सकीय इस्तेमाल के लिए इकट्ठा करने, प्रशीतित (फ्रीज) करने और संग्रहित करके रखने की प्रक्रिया को कॉर्ड ब्लड बैंकिंग कहा जाता है।
  • कॉर्ड ब्लड बैंकिंग में गर्भनाल रक्त शामिल किया जाता है, जो स्टेम सेल का एक समृद्ध स्रोत है, और इसे भविष्य के उपयोग के लिए संरक्षित किया जाता है।
  • इसमें हेमटोपोइएटिक स्टेम सेल नामक विशेष कोशिकाएं होती हैं जिनका उपयोग कुछ प्रकार के रोगों के उपचार के लिए किया जा सकता है।
  • हेमटोपोइएटिक स्टेम कोशिकाएं शरीर में विभिन्न प्रकार की रक्त कोशिकाओं में परिपक्व हो सकती हैं।
  • वैश्विक रूप से, हेमटापोएटिक स्टेम सेल प्रत्यारोपण के लिए हेमेटोलॉजिकल कैंसर और डिसऑर्डर के स्रोत के रूप में काम करती है।

स्टेम सेल

  • स्टेम सेल विशेष मानव कोशिकाएं हैं, जो मांसपेशियों की कोशिकाओं से मस्तिष्क की कोशिकाओं तक कई अलग-अलग प्रकार के सेल में विकसित हो सकती हैं।
  • स्टेम सेल को दो मुख्य रूपों में विभाजित किया जाता है- भ्रूण स्टेम सेल और वयस्क स्टेम सेल।
  • भ्रूण स्टेम कोशिकाओं (Embryonic stem cells)
    • भ्रूण स्टेम कोशिकाएं अप्रयुक्त भ्रूण से आती हैं, जो इन विट्रो निषेचन प्रक्रिया में होती हैं और जो साइंस को डोनेट भी की जाती है।
    • ये भ्रूण स्टेम सेल प्लूरिपोटेंट हैं, जिसका अर्थ है कि वे एक से अधिक प्रकार के सेल में बदल सकते हैं।
  • वयस्क स्टेम सेल
    • यह दो प्रकार के वयस्क स्टेम सेल हैं
    • एक जो मस्तिष्क, त्वचा और अस्थि मज्जा की तरह पूरी तरह से विकसित ऊतकों से आता है।
    • इन ऊतकों में केवल छोटी संख्या में स्टेम सेल होते हैं, और वे कुछ खास प्रकार की कोशिकाओं को पैदा करते हैं।
  • उदाहरण के लिए, लीवर से प्राप्त एक स्टेम सेल, जो केवल लीवर कोशिकाओं को उत्पन्न करेगा।
  • दूसरा- प्रेरित प्लुरिपोटेंट स्टेम सेल है।
  • ये वयस्क स्टेम कोशिकाएं हैं जिन्हें भ्रूण स्टेम कोशिकाओं के प्लुरिपोटेंट विशेषताओं पर लेने के लिए एक प्रयोगशाला में हेरफेर किया गया है।

स्टेम सेल का उपयोग

  • गर्भनाल तरल पदार्थ स्टेम सेल के साथ भरी हुई है। जो कैंसर, रक्त रोगों जैसे एनीमिया और कुछ प्रतिरक्षा प्रणाली विकारों का इलाज कर सकने में सक्षम है, जो आपके शरीर की रक्षा करने की क्षमता को बाधित करते हैं। यह ब्लड कैंसर – सिकलसेल एनीमिया – ट्यूमर्स – थैलेसीमिया – प्लेटलेट्स डिसआर्डर – मस्तिष्क, फेफड़ा, हृदय, लिवर व किडनी संबंधी बीमारियों के लिए उपयोगी हैं।
  • द्रव को इकट्ठा करना आसान है और अस्थि मज्जा से एकत्र की तुलना में 10 गुना अधिक स्टेम कोशिकाएं हैं।
  • कॉर्ड ब्लड से स्टेम कोशिकाएं शायद ही कभी कोई संक्रामक रोग फैलाती हैं।

अतिरिक्त जानकारी- भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद

  • ICMR जैव चिकित्सा अनुसंधान के निर्माण, समन्वय और संवर्धन के लिए भारत में सर्वोच्च निकाय है।
  • यह निकाय समाज की भलाई के लिए मेडिकल रिसर्च में बहुत बड़ी भूमिका निभाती है।
  • यह भारत सरकार द्वारा स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के माध्यम से वित्त पोषित है।

मॉडल प्रश्न

कॉर्ड ब्लड क्या है? कैसे पेरेंट्स स्टेम सेल बैंकिंग कंपनियों द्वारा इमोशनल मार्केटिंग रणनीति का शिकार हो रहे हैं? चर्चा कीजिए।

संदर्भ: